केंद्र एवं राज्य सरकार की योजनाएं

प्रधानमंत्री रोजगार योजना (PMRY)

प्रधानमंत्री रोजगार योजन

 भारत में केंद्र सरकार द्वारा दस लाख शिक्षित बेरोज़गार युवाओं और महिलाओं को स्थायी स्वरोज़गार के अवसर प्रदान करने के लिए वर्ष 1993 में प्रधान मंत्री रोजगार योजना (PMRY) की शुरुआत की गई थी। यह योजना व्यापार, और सर्विस सेक्टर में अपना व्यापार शुरू करने के लिए लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

PMRY का लक्ष्य 2 साल 6 महीने में सेवा और व्यापार क्षेत्र में 7 लाख छोटे व्यवसायों की स्थापना करना है। छोटे उद्योग (SSI) का उद्देश्य स्थानीय संसाधनों का उपयोग करना, उत्पादन के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोग करना होता है। ये उद्योग और स्थानीय बाज़ार से लाभ कमाते हैं।

प्रधानमंत्री रोजगार योजना (PMRY Loan Yojana 2023) का उद्देश्य

केंद्र सरकार की इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश में बेरोजगार युवाओं को लोन प्रदान करके अपना काम शुरू करने में मदद करना है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुख्य उद्देश्य इस योजना को शुरू करना है देश में बढ़ती बेरोजगारी को कम करना है इस योजना के माध्यम से देश के शिक्षित युवाओं को प्रगति की ओर लाना चाहते हैं और बेरोजगार युवाओं को रोजगार देकर आत्मनिर्भर बनाना चाहते हैं इस योजना के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यह चाहते हैं कि बेरोजगार युवा और युति को अपना व्यवसाय करने में प्रोत्साहन मिले

PMRY– विशेषताएं व योग्यता शर्तें

आयु 18 से 35 वर्ष के सभी साक्षर लोगों के लिए
शैक्षणिक योग्यताएं 8वीं पास
ब्याज़ दर सामान्य ब्याज़ दर
भुगतान का समय मोराटोरियम पीरियड के बाद 3 से 7 साल तक
पारिवारिक इनकम  लाभार्थी और पत्नी व उसके माता/पिता की कुल इनकम 40,000/ माह से अधिक न हो
निवास 3 साल से अधिक उस स्थान का निवासी
डिफॉल्टर किसी भी राष्ट्रीयकृत फाइनेंशियल संस्थान/ बैंक/ सहकारी बैंक का डिफॉल्टर नहीं होना चाहिए
सब्सिडी व मार्जिन मनी प्रोजेक्ट की लागत के 15% तक सब्सिडी सीमित होगी। एक व्यक्ति को अधिकतम 7,500 रु. तक
गिरवी 1 लाख रु. तक के प्रोजेक्ट के लिए कुछ गिवरी रखने की ज़रूरत नहीं है.
आरक्षण दलित (SC/ST), महिलाएं

प्रधानमंत्री रोजगार योजना की विशेषताएं

PMRY केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजना है
अपने व्यवसाय की स्थापना सुनिश्चित करने के लिए 15-20 दिनों के लिए लाभार्थियों को प्रशिक्षण दिया जाता है
इस योजना का प्रमुख निकाय लघु , ग्रामीण और कृषि उद्योग मंत्रालय के तहत विकास आयुक्त है
आयुक्त/ निदेशक उद्योग देश के चार महानगरों को छोड़कर राज्य स्तर पर इस योजना को लागू करते हैं
हर तिमाही, राज्य स्तरीय PMRY समिति,योजना की प्रगति की जांच करती है
इस योजना की कार्यान्वयन एजेंसियां देश के महानगरीय शहर हैं
छोटे चाय बागानों, मछली पालन, मुर्गी पालन, सूअर पालन और बागवानी के क्षेत्रों को बढ़ाना
लाभार्थी के व्यवसाय के आरंभ के लिए आसान समान मासिक किस्तें (EMI)।

उत्तर पूर्वी क्षेत्र के लिए राहत मानदंड और उपाय

15% की दर से सब्सिडी अधिकतम 15,000 रु.
2 लाख रु. तक की लागत वाले प्रोजेक्ट के लिए सहायता
मार्जिन परियोजना की लागत का 5% से 12.5% तक हो सकती है।

प्रधान मंत्री रोजगार योजना में कितना पैसा मिलता है

प्रधान मंत्री रोजगार योजना का प्रमुख उदेश्य ही है कि देश के बेरोजगार युवाओं , महिलाओं एवं पात्र युवाओं को स्वयं के व्यवसाय के लिए बैंक से ऋण उपलब्ध कराना है। प्रधान मंत्री रोजगार योजना के तहत लोन लेने वाले आवेदक की आयु 18 वर्ष से 35 वर्ष तक होने चाहिए। आवेदकों की व्यवसाय को योजना को देखते हुए पात्र अभ्यर्थियों को इस योजना के तहत 50 हजार से 10 लाख रूपये तक की लोन मिल सकता है। यदि आप प्रधान मंत्री रोजगार योजना के तहत लोन लेने के इच्छुक है तो कृपया नीचे दिए गए जानकारी अनुसार लोन के लिए अप्लाई कर सकते है।

प्रयोजना का नाम –

प्रधान मंत्री रोजगार योजना 2023 – 24

योजना का प्रारम्भ –

माननीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा

वर्ष – 2023

लाभार्थी –

देश के सभी शिक्षित एवं युवा बेरोजगार नागरिक

PMRY योजना में बदलाव

अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति और महिलाओं के लिए आयु सीमा 35 वर्ष से 45 वर्ष कर दी गई है
योजना के तहत शैक्षिक योग्यता 10 वीं से कक्षा से घटाकर 8 वीं कक्षा तक कर दी गई है
प्रति प्रोजेक्ट लागत की अधिकतम सीमा भी 1 लाख रु. से बढ़ाकर 2 लाख रु. तक कर दी गई है
योजना कृषि और संबद्ध गतिविधियों को कवर करेगी और प्रत्यक्ष कृषि कार्यों को शामिल करेगी, जैसे खाद और इसकी खरीद, फसल उगाना, आदि
प्रति समूह को अधिकतम 5 लाख रुपये तक मिल सकते हैं
भारत के सात पूर्वोत्तर राज्यों में आयु सीमा 40 वर्ष तक बढ़ाई गई है।

प्रधानमंत्री रोजगार योजना (Pradhan Mantri Rojgar Yojana 2023की पात्रता

  • आवेदन करने वाले आवेदक की आई 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए
  • इस योजना के तहत आवेदक को कम से कम आठवीं कक्षा उत्तरी में होनी चाहिए
  • आवेदक के पास 3 वर्ष का स्थाई निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए
  • योजना के तहत महिलाओं भूतपूर्व सैनिक एससी एसटी वर्ग के लोगों के लिए 10 साल तक की छूट दी गई है यानी यह लोग 35 साल की उम्र के बाद और अगले 10 साल तक आवेदन कर सकते हैं
  • इस योजना के तहत आवेदन करने वाले व्यक्ति की पारिवारिक आय ₹40000 से अधिक नहीं होनी चाहिए
  • आवेदक ने पहले किसी भी बैंक से लोन नहीं लिया हो

PMRY के लिए आवश्यक दस्तावेज

प्रधानमंत्री रोजगार योजना (PMRY) के लिए आवेदन करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज आवश्यक हैं:

  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • EDP ट्रेनिंग सर्टिफिकेट
  • प्रस्तावित प्रोजेक्ट प्रोफाइल की एक कॉपी
  • अनुभव, योग्यता, तथा अन्य सर्टिफिकेट
  • जन्मतिथी का प्रमाण (SSC सर्टिफिकेट या स्कूल TC )
  • 3 साल के आवास का प्रमाण, राशन कार्ड या अन्य
  • MRO (मंडल रेवेन्यु ऑफिसर) के द्वारा जारी इनकम सर्टिफिकेट
  • जाति सर्टिफिकेट (अगर आरक्षण का लाभ लेना चाहते हैं तो)

प्रधानमंत्री रोजगार योजना हेतु ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

  • प्रधान म्नत्री रोजगार योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट – www.dcmsme.gov.in पर जाए।
  • होम पेज से आप प्रधानमंत्री रोजगार योजना का फार्म डाउनलोड कर लेवें तथा प्रिंट आउट करा लेवें।
  • फार्म को अब साफ – साफ अक्षरों में भरें और मांगे गए सभी दस्तावेजों जैसे – आधार कार्ड , राशन कार्ड , मोबाइल नंबर , बैंक खाता नंबर सहित मांगे गए सभी दस्तावेज को अटैच करें।
  • अब आप अपने नजदीकी बैंक जाएँ और उक्त योजना से सम्बंधित लोन लेने की जानकारी को साझा करें और आवेदन को बैंक में जमा कर देवें।
  • बैंक अधिकारी के द्वारा आपके आवेदन की जाँच पड़ताल की जाएगी। जाँच पड़ताल में सही पाए जाने पर आपको नियमानुसार लोन उपलब्ध कराया जाएगा।
  • इस तरह से आप प्रधानमंत्री रोजगार योजना के तहत लोन लेकर अपना स्वयं का व्यवसाय चुन सकते है।

Related Articles

Back to top button
close